Nıa Bill Passes İn Lok Sabha, Modi Govt Misuse Nıa Law, राष्ट्रीय जांच एजेंसी, एनआईए बिल, मोदी सरकार, अमित शाह

Nıa Bill Passes İn Lok Sabha, Modi Govt Misuse Nıa Law

अब आतंकवाद से लड़ने में बेबस नहीं रहेगी NIA, ऐसे बढ़ेगी ताकत

मोदी सरकार की ओर से लोकसभा में पेश बिल NIA की ताकत बढ़ाने वाला है

16.7.2019

मोदी सरकार की ओर से लोकसभा में पेश बिल NIA की ताकत बढ़ाने वाला है

मुंबई पर हुए आतंकी हमले के बाद तत्कालीन यूपीए सरकार ने 2008 में एक विधेयक लाकर एनआईए का गठन किया था. अब मोदी सरकार ने इस एजेंसी की ताकत बढ़ाने की तैयारी की है.

भारत के हितों के खिलाफ अपराध मामलों की विदेशों में एनआईए जांच कर सकेगी. लोकसभा में गृह मंत्री अमित शाह की ओर से मत विभाजन की मांग की. उन्होंने कहा कि ताकि पता चले कि कौन आतंकवाद के साथ है और कौन विरोध में. इस दौरान 278 के मुकाबले विरोध में मात्र 6 वोट पड़े. जिससे लोकसभा में आसानी से एनआई बिल पास हो गया.

मोदी सरकार का मानना है कि वर्तमान में राष्ट्रीय जांच एजेंसी के पास आतंकवाद के खिलाफ लड़ने के लिए पर्याप्त पॉवर नहीं हैं.एजेंसी के जरिए आतंकवाद का खात्मा तभी हो सकेगा, जब एनआईए को जांच आदि से जुड़े और अधिकार मिलें. लोकसभा में बिल को पेश करने के दौरान गृहमंत्री अमित शाह ने कहा था कि आतंकवाद के खिलाफ कार्रवाई करने वाली किसी एजेंसी को और ताकत देने की बात हो और इस पर सदन एक मत न हो, इससे आतंकवाद फैलाने वालों का मनोबल बढ़ता है.

और पढो: आज तक
ताज़ा खबर
अभी नवीनतम समाचार

बधाई । NIA संशोधन बिल 6 वोट विरोध में पड़े हैं उनको देश के सामने लाया जाए ताकि पता चले कि देशद्रोही कोन 🤮🤮🤮🤮🤮😡😡😡😡

विधानसभा में बोले नीतीश कुमार, बिहार में बाढ़ अब तक 25 लोगों की मौतबिहार में आई बाढ़ पर राज्य के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा है कि उन्होंने चार घंटे तक हवाई सर्वेक्षण किया है। NitishKumar वैसे कितने नेता मरे,,,, बाढ़ में अब तक नही मरे तो क्यों ,,,

25 लाख की रिश्वत मामले में CBI की 5 शहरों में छापेमारी, अधिकारी समेत 7 गिरफ्तारसीबीआई की छापेमारी दिल्ली, सिलचर, जलपाईगुड़ी, गुवाहाटी और ग्वालियर में हुई है. सीबीआई ने लोक सेवकों, निजी व्यक्तियों, बिचौलिए के 18 ठिकानों पर तलाशी ली. करोडो में विधायक,, सांसद और पार्षद खरीदे जा रहे है कुछ राज्यों में वोह सदाचार है और रिश्वत लेना भ्रष्टाचार है !! इस सरकार के दो चेहरे है एक आम आदमी के लिए & दूसरा खास आदमी के लिए !! वाह मोदी जी वाह !!!

कहानियों
दिन की शीर्ष समाचार कहानियां

असम के 28 जिलों में बाढ़, 3181 गांव बने टापू, अब तक 11 लोगों की मौतअसम में करीब 26 लाख लोग बाढ़ की चपेट में हैं. बाढ़ से असम के 3181 गांव टापू में तब्दील हो चुके हैं. बाढ़ और लैंडस्लाइड की चपेट में आने से 11 लोगों की जान जा चुकी है.

असम में बाढ़ का कहर, अब तक 15 लोगों की मौतपूर्वोत्तर राज्य असम में आई बाढ़ की वजह से 4157 गांव पानी में डूब गए हैं. वहीं, प्रदेश के 28 जिले बाढ़ की चपेट में हैं. इस बाढ़ के कारण आज 4 अन्य लोगों की मौत हो गई, इस तरह अब मरने वालों की संख्या बढ़कर 15 हो गई है. कई इलाकों में बाढ़ का पानी आने से प्रभावित लोगों की संख्या में भारी इजाफा हुआ है. अब क्या असम में लाखो हिंदू खतरे में नही है क्या कहां मर गये वोह चुनावों में 'हिंदू खतरे में है' का बेसुरा राग अलापने वाले अवसरवादी लोग?

कहानियों
दिन की शीर्ष समाचार कहानियां

अब चंद्रबाबू नायडू की पार्टी में बगावत, सांसद बोले- अपने पालतू कुत्ते को कंट्रोल करें!– News18 हिंदीविजयवाड़ा से सांसद केसिनेनी नानी ने पार्टी अध्यक्ष और पूर्व मुख्यमंत्री एन चंद्रबाबू नायडू को अपने पालतू कुत्ते को नियंत्रण में रखने के लिए कहा है. ncbn हुआ तो हुआ ncbn वैसे उड़ता तीर लेना किसे कहते हैं कोई चंद्र बाबु नायडू से पूछ सकता है लोकसभा चुनाव के बाद ncbn Nikal gai Puri hekadi huva to huva ...😋 jai hind 🇮🇳🙏

UP: बाराबंकी में गायों की मौत, ग्रामीण बोले- चारा न मिलने से मर रहे गोवंशबाराबंकी में सफरदगंज के गौ आश्रय स्थल में गायों की मौत हुई है. ग्रामीणों का कहना है कि चारा-पानी न मिलने के कारण गउएं मरी हैं, हालांकि जिला प्रशासन इससे इनकार कर रहा है. yogi ko btao ye sb. Godi or modi midia kitni b.j.p ki dalali karega ye Gaymata ke nam par dibet honi chahiye ki nay गाय को अपनी माता बता कर राजनीति करते है और अपनी माता को भूखे रख कर तणपाकर मार देंते है सीधे नरक में जाओगे

टिप्पणी लिखें

Thank you for your comment.
Please try again later.

ताज़ा खबर

समाचार

16 जुलाई 2019, मंगलवार समाचार

पिछली खबर

टीम इंडिया का कोच बनने के लिए पूरी करनी होंगी ये पांच शर्तें, BCCI ने मंगाए आवेदन

अगली खबर

Realme 3i vs Realme 3: दोनों बजट स्मार्टफोन्स में ये हैं अंतर
टीम इंडिया का कोच बनने के लिए पूरी करनी होंगी ये पांच शर्तें, BCCI ने मंगाए आवेदन Realme 3i vs Realme 3: दोनों बजट स्मार्टफोन्स में ये हैं अंतर