अफ़ग़ानिस्तान: तालिबान विरोधियों ने सरकार को मान्यता ना देने की अपील की - BBC News हिंदी

अफ़ग़ानिस्तान: तालिबान विरोधियों ने सरकार को मान्यता ना देने की अपील की

08-09-2021 13:52:00

अफ़ग़ानिस्तान: तालिबान विरोधियों ने सरकार को मान्यता ना देने की अपील की

पंजशीर में तालिबान से लड़ रहे लड़ाकों ने सरकार को 'ग़ैर-क़ानूनी' बताया है. उन्होंने कहा है कि वो तालिबान की अंतरिम कैबिनेट को 'अफ़ग़ान लोगों के ख़िलाफ़ दुश्मनी के साफ़ संकेत की तरह देखते हैं.'

इमेज कैप्शन,तालिबान के प्रवक्ता ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में अंतरिम सरकार के गठन की जानकारी दी.अमेरिका ने जताई चिंताअमेरिका की तरफ़ से जारी एक बयान में कहा गया है, "हमने देखा है कि जारी की गई लिस्ट में सिर्फ़ तालिबान से जुड़े लोगों या उनके नज़दीकियों के नाम हैं, और इसमें कोई महिला नहीं है." "इनमें कुछ लोगों के ट्रैक रिकॉर्ड और उनके जुड़ाव को लेकर भी हम चिंतित हैं."

महिलाओं के अधिकार के लिए आज भी डटे हैं : UP में 40% टिकट महिलाओं को देने पर राहुल गांधी बड़े लोगों पर कीचड़ उछालने में सबको मजा आता है...आर्यन के समर्थन में जावेद अख्‍तर अमरिंदर स‍िंह बनाएंगे नई पार्टी, कहा - पंजाब चुनाव में बीजेपी से सीटों के समझौते को तैयार

बयान कहा गया कि अमेरिका अफ़ग़ान नागरिक, जिनके पास वैध दस्तावेज़ हैं, उन्हें विदेश जाने की इजाज़त देने की "तालिबान की प्रतिबद्धता पर कायम रखने" के लिए कहता रहेगा."इसके अलावा हम इस बात पर ज़ोर देना चाहते हैं कि हमें उम्मीद है कि तालिबान ये सुनिश्चित करेगा कि अफ़ग़ानिस्तान की ज़मीन का इस्तेमाल किसी दूसरे देश के लिए ख़तरा पैदा करने के लिए नहीं होगा."

तालिबान ने अफ़ग़ानिस्तान पर क़रीब तीन हफ़्ते पहले कब्ज़ा कर लिया था. अब उसके सामने कई मुश्किलें हैं जिनमें अर्थव्यवस्था को पटरी पर लाना करना और अंतरराष्ट्रीय मान्यता प्राप्त करना अहम है.बुधवार को कुछ महिलाओं ने काबुल में उस महिला पुलिसकर्मी की तस्वीर के साथ प्रदर्शन किया जिसकी कथित तौर पर तालिबान ने हत्या कर दी थी. इससे पहले भी महिलाओं से सार्वजनिक तौर पर विरोध करने की अपील की गई थी और तालिबान को मिल रहे कथित पाकिस्तान के समर्थन पर विरोध जताया गया था. headtopics.com

तालिबान ने प्रदर्शनकारियों के ख़िलाफ़ किसी तरह की हिंसा से इनकार किया है.इमेज स्रोत,AFPतालिबान की ये घोषणा और रूस-अमेरिका हुए भारत को लेकर सक्रियमंत्रियों को इस्लामी क़ानून लागू करने के लिए कहा गयामंगलवार को तालिबान के सुप्रीम लीडर मौलवी हिबातुल्लाह अखुंदज़दा के हवाले से जारी एक बयान में सरकार को शरिया क़ानून के हिसाब से काम करने के लिए कहा गया है. तालिबान को शरिया कानून की कठोर व्याख्या के मुताबिक काम करने के लिए जाना जाता है.

समूह ने बयान में कहा, "तालिबान दूसरे देशों के साथ "मज़बूत और स्वस्थ" रिश्ते चाहता है और उन अंतरराष्ट्रीय क़ानूनों और संधियों मुताबिक चलेगा जिनका "इस्लामी क़ानून और देश की मूल्यों" के साथ विरोधाभास न हो.नए अंतरिम प्रधानमंत्री हसन अखुंद 1996 से 2001 के बीच उप विदेश मंत्री रह चुके हैं, जब तालिबान पिछली बार सत्ता में थी. उनका वर्चस्व सैन्य पक्ष से अधिक धार्मिक में है.

हाल ही में कुछ उदारवादी तालिबान सदस्य और उनके कट्टर सहयोगियों के बीच लड़ाई की खबरों के बाद उनकी नियुक्ति को एक समझौते के रूप में देखा जा रहा है.गृहमंत्री अमेरिका के आतंकवादियों कीलिस्ट मेंअंतरिम आंतरिक मंत्री सिराजुद्दीन हक्कानी सैन्य समूह हक्क़ानी नेटवर्क के प्रमुख हैं. इस समूह को तालिबान की मान्यता प्राप्त है और पहले दो दशकों तक चली जंग में कई घातक हमलों के लिए ये ज़िम्मेदार रहा है, इसमें काबुल में 2017 में हुआ ट्रक धमाका भी शामिल है जिसमें 150 लोगों की जान चली गई थी.

तालिबान से अलग इस नेटवर्क को अमेरिका ने विदेशी आतंकवादी समूह का दर्जा दिया है. इस समूह के अलकायदा के साथ भी क़रीबी रिश्ते हैं. एफबीआई के मुताबिक सिरजुद्दीन की तलाश 2008 में अफ़ग़ानिस्तान मे हुए होटल हमले के संबंध में की जा रही है. इस हमले में एक अमेरिकी नागरिक की मौत हो गई थी. headtopics.com

प्रियंका लड़की हैं, लड़ सकती हैं शिल्पा शेट्टी और राज कुंद्रा ने शर्लिन चोपड़ा के खिलाफ दाखिल किया 50 करोड़ का मानहानि का केस Uttarakhand Rains Live Updates: उत्तराखंड में 34 लोगों की मौत, देखिए बाढ़ में फंसे लोगों को कैसे निकाल रही NDRF की टीम

वीडियो कैप्शन,पंजशीर की लड़ाई को लेकर पाकिस्तान पर क्यों भड़का ईरान?'आंतकवादियों की लिस्ट में शामिल लोग सरकारी पद पर' और पढो: BBC News Hindi »

लखीमपुर खीरी से ग्राउंड रिपोर्ट: नाराज किसान बोले- आज हमारे बच्चों को कुचला तो 45 लाख में समझौता हो गया, कल कोई और कुचलेगा तो 50 लाख में मामला निपट जाएगा

पिछले कुछ दिनों से चर्चा में रहे लखीमपुर खीरी के तिकुनिया में अब खामोशी है। जली हुई गाड़ियां, थके हुए पुलिसकर्मी और सच तलाशते गिने-चुने पत्रकारों को देखने के बाद ये अहसास ही नहीं होता कि 48 घंटे पहले यहां हुए उपद्रव में 8 लोगों की जान गई है। मन में सवाल कौंधता है कि आखिर इतनी जल्दी स्थिति कैसे काबू हो गई। लोग इतने सामान्य क्यों दिखाई दे रहे हैं? सरकार ने इस पूरे मामले को कैसे कंट्रोल किया? | UP Lakhimpur Kheri Violence Ground Report; Farmers On Rs 45 Lakh Compensation जब हमने चश्मदीद प्रदर्शनकारी से घटना को लेकर सवाल किया तो वे किसानों पर गाड़ी चढ़ाने के बारे में तो खुलकर बात कर रहे थे,

अबे ये आतंकी सरकार बनाएंगे तो कौन मान्यता देगा बे बीबीसी हिंदी...१० में से ०दीं 😁😁 जो होना था वह हो गया मायेनता तो मिल गई मुझे तो हंसी आ रही है वक्त देखो कितनी जल्दी बदल गया जो आतंकवादी देशद्रोही थे वह आज उप मुख्यमंत्री प्रधानमंत्री राष्ट्रपति बन गए वाह वाह बड़ी जल्दी वक्त बदला भाई जभी तो राहत इंदोरी साहब कहते है सबकी इज्जत किया करो कब किसका टाइम बदल जाए

भारत में जिसको 'मन की बात' समझ नही आ रही है वो अफगानिस्तान जाये वहां 'गन की बात' चल रही है.. 😂😂 नाना पाटेकर की लाजवाब मिमीक्री। केवल एक मिनट की वीडियो आपकी दिन भर की थकान दूर कर देगी। आप भी देखे, तभी आपके ट्वीट पर ट्वीट किया है। लिख कर लेलो 5-6 महीने में भारत-अमेरिका सहित ज्यादातर देश फुलप्रूफ मान्यता दे देंगे,

But BBC Always support islamic terrorism ,& islamic terrorist organisation like Taliban's, Hamas,etc....

तालिबान को संयुक्त राष्ट्र की मानवीय सहायता की ज़रूरत: गुटेरेस - BBC Hindiसंयुक्त राष्ट्र महासचिव ने कहा कि तालिबान से बातचीत के लिए मानवीय सहायता एक 'प्रवेश द्वार' हो सकती है. तालिबान ने मंगलवार को अपनी अंतरिम सरकार की घोषणा की है. Patharbaaz pahuch hi gye... पत्थरबाज़ यहाँ भी 🤔🤔 😱😱😱

अफ़ग़ानिस्तान: तालिबान ने की अंतरिम सरकार की घोषणा, अखुंद होंगे मुखिया - BBC News हिंदीतालिबान के प्रवक्ता ज़बीहुल्लाह मुजाहिद ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में बताया कि अफ़ग़ानिस्तान अब इस्लामिक अमीरात है. बीबीसी को बुलाया की नहीं शपथ ग्रहण समारोह में Follow the twitter handles of 'All India Trinamool Congress' from all over India 👇👇👇 AITC4Assam AITC4Delhi AITC4Bihar AITC4Jharkhand AITC4Tripura AITC4UP AITC4Gujarat AITCofficial AITC_Parliament दुनिया की पहली और एकमात्र अपराधियों की सरकार नाटो और अमेरिका के सहयोग से। BBCBreaking BBCWorld BBCIndia BBCPolitics BBCIndia

किसी ने Panjshir की तरह विरोध की हिमाकत की तो..., देखें Taliban की धमकीतालिबान का बरसों पुराना सपना आखिरकार पूरा हो गया. तालिबान ने दावा किया कि पंजशीर में उसका कब्जा हो गया है और अब पूरा अफगानिस्तान तालिबान के हाथ में है. उधर नॉर्दन अलायंस के नेता अहमद मसूद और पूर्व उपराष्ट्रपति अमरुल्ला सालेह अंडरग्राउंड हो गए हैं. अहमद मसूद ने अपने ऑडियो संदेश में कहा है कि खून के आखिरी कतरे तक जंग जारी रहेगी. ताालिबान पंजशीर पर पूरी तरह कब्जे का दावा कर रहा है. वो अफगानिस्तान में स्थिरता का दावा कर रहा है, लेकिन साथ में धमकी भी दे रहा है कि अगर किसी ने पंजशीर की तरह विरोध की हिमाकत की तो तालिबानी लड़ाके उसका करारा जवाब देंगे. देखिए ये रिपोर्ट. क्रिमिनल हमेशा धमकी भाषा बोलते है।यही उनकी पहचान है। Panjsher Taliban ka ant hai,chod ke bagenge,usa ki tarah.

Javed Akhtar ने की Taliban से RSS की तुलना, Sambit Patra ने ल‍िया आड़े हाथअफगानिस्तान में तालिबान ने घमासान मचा रखा है तो यहां भारत में तालिबान के नाम पर घमासान छिड़ गया है. ताजा विवाद गीतकार जावेद अख्तर के बयान पर हो रहा है. जावेद अख्तर ने अपने बयान में RSS और उससे जुड़े संगठनों की तुलना तालिबान से कर दी है और यहां तक कह दिया है कि दक्षिणपंथी विचारधारा दमनकारी है. जावेद अख्तर के बयान पर बीजेपी के साथ-साथ शिवसेना नाराज है. शिवसेना ने सामना में जावेद अख्तर के बयान को गलत बताया है जबकि महाराष्ट्र बीजेपी के नेता जावेद अख्तर के माफी ना मांगने तक उनकी फिल्में न चलने देने की धमकी दे रहे हैं. आज इसी मुद्दे पर बहस के दौरान बीजेपी प्रवक्ता संबित पात्रा ने जावेद अख्तर के बयान को लेकर उन्हें आड़े हाथों लिया. देखिए ये वीडियो. जावेद जाये भाड में जो लोग तालिबान के डर से अफगानिस्तान छोड़ के भाग रहे है उसी अफ़ग़ानियो को भारत की RSS समर्थक सरकार चरण दे रही है जावेद अख्तर को ये सब नही दिखता क्योकि नजरो के सामने मजहबी कट्टरवाद का पर्दा लगा हुआ है

अफगानिस्तान की नई सरकार के कुछ सदस्यों के नामों की आज रात घोषणा करेगा तालिबानअफगानिस्तान की नई सरकार के कुछ सदस्यों के नामों की आज रात घोषणा करेगा तालिबान : रिपोर्ट Rabiya saifi ke bare me kiu Nahi dikha the hai Ravish sir

Taliban ने की 33 मंत्रियों की सूची जारी, सरकार में नहीं किसी महिला की भागीदारीआख़िरकार तमाम उतार चढ़ावों को पीछे छोड़ कर तालिबान ने अफ़ग़ानिस्तान में सरकार बना ही ली है. फिलहाल तालिबान ने इसे कार्यवाहक सरकार का नाम दिया है और इसी के साथ अफ़गानिस्तान को इस्लामिक तरीके से तरक्की के रास्ते पर ले जाने की कसम भी खाई है. अफगानिस्तान के सरदार का नाम भी सामने आ गया है. तालिबानी सरकार की जिम्मेदारी मुल्ला मुहम्मद हसन अखुंद को सौंपी गई है. तालिबान ने मुल्ला मुहम्मद हसन अखुंद को प्रधानमंत्री चुना है. उसी अखुंद की ये सबसे नई तस्वीरें हैं. अखुंदजदा का पद सबसे बड़ा राजनीतिक और धार्मिक पद होगा. तालिबान ने 33 मंत्रियों की सूची जारी की है. सरकार में किसी भी महिला की भागीदारी नहीं है. देखें ये वीडियो. और इनकी education qualification क्या है, दारू बारूद असला