Delhicovid, Coronaviruspandemic, News, News İn Hindi, Latest News, Headlines, अन्य खबरें Samachar

Delhicovid, Coronaviruspandemic

अदालत ने दिल्ली सरकार से पूछा- कोविड-19 जांच की संख्या कम क्यों हो गई है

हाई कोर्ट ने दिल्ली सरकार से पूछा, कोरोना की जांच कम क्यों हो गई है? #DelhiCovid #CoronavirusPandemic via @NavbharatTimes

30-04-2021 21:45:00

हाई कोर्ट ने दिल्ली सरकार से पूछा, कोरोना की जांच कम क्यों हो गई है? DelhiCovid CoronavirusPandemic via NavbharatTimes

नयी दिल्ली, 30 अप्रैल (भाषा) दिल्ली उच्च न्यायालय ने शुक्रवार को आंकड़े का उल्लेख करते हुये राष्ट्रीय राजधानी की आम आदमी पार्टी की सरकार से सवाल किया कि प्रदेश में कोविड-19 जांच में इतनी कमी क्यों आ गई है।न्यायमूर्ति विपिन सांघी और न्यायमूर्ति रेखा पल्ली की पीठ ने कहा कि पहले जहां जांच की संख्या एक लाख के आसपास थी, वह अब घटकर 70-80,000 प्रतिदिन हो गई है।पीठ ने कहा, ‘‘आपकी जांच में भारी कमी आई है।’’ अदालत ने दिल्ली सरकार से इस बारे में बताने के लिये कहा है।याचिकाकर्ता का प्रतिनिधित्व कर रहे अधिवक्ता अंकुर महेंद्रू ने कहा

न्यायमूर्ति विपिन सांघी और न्यायमूर्ति रेखा पल्ली की पीठ ने कहा कि पहले जहां जांच की संख्या एक लाख के आसपास थी, वह अब घटकर 70-80,000 प्रतिदिन हो गई है।पीठ ने कहा, ‘‘आपकी जांच में भारी कमी आई है।’’ अदालत ने दिल्ली सरकार से इस बारे में बताने के लिये कहा है।

नरेंद्र गिरि की संदिग्ध मौत, एक उलझी पहेली... - BBC News हिंदी पंजाब: CM की कुर्सी संभालते ही चन्नी ने दिया सरकारी कर्मचारियों को तोहफा, वेतन में 15 % की बढ़ोतरी ब्रिटेन सरकार के इस नियम पर भारत में गहरी नाराज़गी, क्या है मामला? - BBC Hindi

याचिकाकर्ता का प्रतिनिधित्व कर रहे अधिवक्ता अंकुर महेंद्रू ने कहा कि जांच में कोई प्रगति नहीं है और सरकार मोहल्ला क्लीनिक और सचल क्लीनिकों में रैपिड एंटीजन टेस्ट के साथ शुरुआत कर सकती है।उन्होंने कहा कि जांच के लिए निषिद्ध क्षेत्रों और अस्पतालों में मोबाइल वैन तैनात की जा सकती हैं और ऐसी जांच का इस्तेमाल मरीजों के तिमारदारों द्वारा किया जा सकता है।

अदालत ने सरकार से इस पहलू की पड़ताल करने और उसे सोमवार को सूचित करने का निर्देश दिया ।दिल्ली सरकार के वकील सत्यकाम ने कहा कि ये ऐसे सुझाव हैं, जिस पर सरकार का प्रतिकूल विचार नहीं है।उन्होंने कहा, ‘‘हम प्रति दिन 70 से 80,000 जांच कर रहे हैं ... हम कर्फ्यू से पहले एक लाख के आसपास जांच कर रहे थे। हम बाजार में जा रहे थे ... इसलिए 30,000 जांच कम हो गए है।’’ headtopics.com

इस बीच, एक ऑक्सीजन रिफिलर 'सेठ एयर' के वकील ने धन की कमी का मुद्दा उठाया और कहा कि उसे ऑक्सीजन की आपूर्ति के लिए जो आवंटन किया गया है वह बहुत अधिक है और उसकी क्षमता से अधिक है। उसने कहा कि वह इतनी आपूर्ति करने में असमर्थ है, इस पर अदालत ने कहा कि इसे दिल्ली सरकार को देखना होगा।

दिल्ली सरकार का प्रतिनिधित्व करने वाले वरिष्ठ वकील राहुल मेहरा ने कहा कि 'सेठ एयर' का बकाया सरकार द्वारा जल्द मंजूर किया जाएगा ताकि गैस की आपूर्ति श्रृंखला प्रभावित न हो।Navbharat Times News App: और पढो: NBT Hindi News »

गुजरात में सियासी भूचाल, कौन होगा अगला मुख्यमंत्री? देखें दंगल में बड़ी बहस

गुजरात में शनिवार को बड़ा सियासी उलटफेर हुआ है. विजय रुपाणी (Vijay Rupani) ने मुख्यमंत्री (Chief Minister) के पद से इस्तीफा (Resign) दे दिया. उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गृह मंत्री अमित शाह और पार्टी आलाकमान को आभार प्रकट किया. कुछ देर पहले ही रुपाणी ने राज्यपाल आचार्य देवव्रत से मुलाकात करते हुए उन्हें इस्तीफा सौंप दिया. गुजरात के मुख्यमंत्री पद से विजय रुपाणी के इस्तीफा देने के बाद अब यह सवाल उठने लगा है कि राज्य का अगला मुख्यमंत्री कौन होगा? देखें दंगल में बड़ी बहस.

अब यह सब कोर्ट मानिटर कर रहा है। इससे बुरी स्थिति क्या हो सकती है। Sahi pakde hai, testing hi kam diya isne Why not ask HC any question about low testing any other states like UP or any other Sanjivani for India With the mind, karma & body, who has true faith in SHRI RAMji, he /she cannot even have trouble in his/her dream. This is real medicine for all in this corona time of second/third wave.

Sanajivani for India With the mind, karma & body, who has true faith in Rama ji, he /she cannot even have trouble in his/her dream. This is real medicine for all in this corona time of second/third wave मी लार्ड, इसमें पूछने वाली क्या बात है, आप समझ सकते हैं कि हम पर कितना दबाव है..!!

संत निरंकारी मैदान में दिल्ली सरकार ने बनाया कोविड केयर सेंटर, 1000 बेड की व्यवस्थाबुराड़ी से आम आदमी पार्टी के विधायक संजीव झा ने कोविड सेंटर का जायजा लेते हुए बताया कि इस सेंटर में 1000 मरीजों के इलाज की व्यवस्था की गई. डॉक्टरों की एक बड़ी टीम 24 घंटे यहां मरीजों की निगरानी रखेंगे. sushantm870 Tumhari modi sarkar kya kr rhi h

दिल्ली में ऑक्सीजन डिस्ट्रीब्यूशन संभालने के लिए केजरीवाल सरकार ने 3 IAS किए तैनातराजधानी दिल्ली में ऑक्सीजन की किल्लत दूर करने के लिए केजरीवाल सरकार द्वारा लगातार प्रयास किए जा रहे हैं. बताया गया है कि आने वाले समय में ऑक्सीजन की मांग बढ़ सकती है. वहीं दिल्ली में ऑक्सीजन का वितरण सही हो सके, इसके लिए सरकार ने आवंटन रणनीति तैयार की है. PankajJainClick यह व्यवस्था पहले क्यूँ नही ? इन हजारो मौतो का जिम्मेदार कौन ? PankajJainClick Delhi government achhe kaam ko anjam tak le jana bakhubi jante h or is me 100% khade utarate h PankajJainClick Kejriwal is criminal.

दिल्ली : अस्पतालों के लिए ऑक्सीजन कोटा तय, हाईकोर्ट ने सरकार की योजना को दी मंजूरीदिल्ली : अस्पतालों के लिए ऑक्सीजन कोटा तय, हाईकोर्ट ने सरकार की योजना को दी मंजूरी DelhiHC OxygenShortage covid19

माथापच्ची : वैक्सीन पर केंद्र और दिल्ली सरकार के आंकड़ों ने उलझाया, बाकी जगह भी यही हालातमाथापच्ची : वैक्सीन पर केंद्र और दिल्ली सरकार के आंकड़ों ने उलझाया, बाकी जगह भी यही हालात Coronaviurs Delhi coronavaccin ArvindKejriwal PMOIndia MoHFW_INDIA

कोरोना का कहर: हाई कोर्ट ने कहा, दिल्ली सरकार पूरी तरह विफलदिल्ली में शुक्रवार को कोरोना वायरस संक्रमण की वजह से 375 और मरीजों की मौत हो गई जबकि कोविड-19 के 27,047 नये मामले सामने आये। क्या केन्द्र सरकार सफ़ल है!