अजब बिहार की गजब कहानी, 650 कर्मचारियों को 25 साल के बाद मिला वेतन

बिहार में किसी कर्मचारी को 2, 4 या 6 महीने से वेतन बकाया रहना कोई नई बात नहीं है. #Bihar | @rohit_manas

Bihar, Salary Given After 25 Years

03-12-2021 21:27:00

बिहार में किसी कर्मचारी को 2, 4 या 6 महीने से वेतन बकाया रहना कोई नई बात नहीं है. Bihar | rohit_manas

बिहार राज्य हथकरघा एवं हस्तशिल्प निगम और बिहार राज्य औषधि एवं रसायन निगम के तकरीबन 650 कर्मचारियों को 25 साल बाद वेतन मिला है. केंद्रीय उद्योग मंत्री शाहनवाज हुसैन ने 80 करोड़ रुपये का भुगतान किया.

स्टोरी हाइलाइट्स25 सालों से नहीं मिला था वेतनकर्मचारियों ने छोड़ दी थी उम्मीदबिहार में किसी कर्मचारी को 2, 4 या 6 महीने से वेतन बकाया रहना कोई नई बात नहीं है. मगर हैरानी तब होती है जब ये पता चलता है कि बिहार में ऐसे कई कर्मचारी हैं जो पिछले 25 सालों से बिना वेतन के ही काम कर रहे हैं.

मामला दरअसल बिहार सरकार के उद्योग विभाग से जुड़ा हुआ है जहां पर तकरीबन 650 कर्मचारियों को पिछले 25 सालों से वेतन का भुगतान नहीं किया गया मगर गुरुवार को विभाग के मंत्री शाहनवाज हुसैन ने इन लोगों को उनका बकाया वेतन भुगतान किया.बिहार राज्य हथकरघा एवं हस्तशिल्प निगम और बिहार राज्य औषधि एवं रसायन निगम के तकरीबन 650 कर्मचारियों को करीब 80 करोड़ रुपये की राशि वेतन के तौर पर भुगतान की गई.

ये भी पढ़ें--बिहार में पढ़ने वाले हो जाते हैं फेल, सनी लियोनी कर जाती है टॉप, तेजस्‍वी यादव ने क्‍यों कही ये बात?जानकारी के मुताबिक, 1997 से इन दोनों निगमों के कर्मचारियों को वेतन का भुगतान नहीं किया गया था और सभी 650 कर्मचारी बिना वेतन के ही पिछले 25 सालों से काम कर रहे थे और कई कर्मचारियों ने तो वेतन मिलने की उम्मीद भी छोड़ दी थी. headtopics.com

Bal Thackrey Birth Anniversary: सीएम उद्धव ठकरे ने कहा- शिवसेना ने भाजपा के साथ रहकर 25 साल बर्बाद कर दिये

650 कर्मचारियों को वेतन का भुगतान करते हुए उद्योग मंत्री शाहनवाज हुसैन ने बताया कि कई कर्मचारियों को पिछले 25 सालों से वेतन नहीं मिला था. दिलचस्प बात यह है कि कई कर्मचारियों को 25 सालों के वेतन के तौर पर 15 से 20 लाख रुपये का भुगतान किया गया है.उद्योग मंत्री शाहनवाज हुसैन ने बताया कि दो निगमों के कर्मचारियों को तकरीबन 80 करोड़ रुपये का वेतन भुगतान किया गया है. कई कर्मचारी बूढ़े हो गए हैं और उन्होंने वेतन पाने की उम्मीद भी छोड़ दी थी मगर आज हम लोगों ने नीतीश कुमार की पहल पर उन्हें वेतन दिया है.

Live TV

और पढो: AajTak »

सरकार: 2017 में BJP के भारी बहुमत से जीत के बाद Yogi Adityanath कैसे चुने गए CM?

मार्च 2017 की बात है. फागुन की पूरनमासी से पहले ही यूपी में बीजेपी की पूरनमासी हो गई. यूपी के बड़े बड़े लड़ैया मोदी के आगे ढेर हो गए. प्रचंड बहुमत से बीजेपी को जीत मिली थी, जिसकी किसी ने कल्पना भी नहीं की थी. लेकिन इसके बाद चुनना था एक ऐसा चेहरा जो इस भारी भरकम जनादेश के साथ न्याय कर सकता था, उत्तर प्रदेश का नया मुख्यमंत्री. चर्चा थी तीन नामों की - यूपी के सीएम रह चुके राजनाथ सिंह, गाज़ीपुर से तत्कालीन सांसद मनोज सिंहा और तब के यूपी बीजेपी अध्यक्ष केशव प्रसाद मौर्य. लेकिन जो फैसला लिया गया वो कयासों से बिलकुल उलट था. घोषणा हो गई एक ऐसे नाम की जिनकी किसी ने चर्चा ही नहीं की थी. बाकि तो छोड़िए, खुद योगी आदित्यनाथ को नहीं मालूम था कि उनकी बारी ऐसे आ जाएगी. देखें सरकार. और पढो >>

rohit_manas मुस्कुराईये आप बीस वर्षीय मुख्यमंत्री के मुख्यमंत्रित्व काल में हैं। वेतन पाने वाले मुस्कुराएं, मानदेय पाने वाले जोर से मुस्कुराएं। rohit_manas NitishKumar bihar ke liye kya kar rha phir 15Saal se😅😅 rohit_manas मुस्कराईऐ आप बिहार मे हैं!

बिहार सरकार के मंत्री बोले- मेरी गाड़ी को रोककर डीएम-एसपी को बढ़ाया आगे, विधानसभा के गेट पर हंगामा Bihar Politics बिहार विधानमंडल के शीतकालीन सत्र में हर रोज हंगामा हो रहा है। कभी विपक्ष तो कभी सत्‍ता पक्ष के विधायक सरकार पर सवाल उठाते रहते हैं। इस बार सरकार के मंत्री ने ही सरकार पर सवाल उठा दिया। ये इस झोपडीवाले का गुरूर बोल रहा है।

Bihar Vidhan Sabha : 'विधायकों की पिटाई हो गई, मंत्रियों की बाकी', बिहार विधानसभा में भारी बवालबिहार सरकार में बीजेपी कोटे से मंत्री जीवेश मिश्रा ने सदन के अंदर अपनी ही सरकार के खिलाफ मोर्चा खोल दिया। विधानसभा में मंत्री जीवेश मिश्रा ने पटना के डीएम और एसएसपी पर उनका अपमान करने का आरोप लगाया। मंत्री ने सदन में खड़े होकर कहा है कि पटना के एसपी और डीएम की वजह से उनकी गाड़ी को विधानसभा में आने से रोका गया।

बिहार: 16 लोगों की आंखें क्यों निकाली गईं, अब क्या है उनका हाल - BBC News हिंदीबिहार के मुज़फ़्फ़रपुर ज़िले के 'मुज़फ़्फ़रपुर आई हॉस्पिटल' में 22 नवंबर को 65 लोगों का मोतियाबिंद का ऑपरेशन हुआ जिसके बाद 16 लोगों की आंख निकालनी पड़ी. Ye to pata lagane ka kaam media ka hai par sachhai samne aani chahiye There is a mysterious disease spreading in cows in Bihar's Samastipur district. My family also lost one cow and a calf in last two days. Please help get the attention of Govt's please help DM_Samastipur nityanandraibjp officecmbihar Are bihar goverment sleeping are public it should be happened to any minsiter wife

बिहार के नक्सल प्रभावित जमुई में सोने का सबसे बड़ा भंडार, संसद में बोले केंद्रीय मंत्री, बताया आगे का प्लानसंजय जायसवाल ने सदन में पूछा था कि देश में सर्वाधिक स्‍वर्ण भंडार क्‍या बिहार में है? उन्‍होंने पश्चिम चंपारण समेत अन्‍य जिलों में स्‍वर्ण भंडार का सर्वे कराने की बाबत भी सरकार से जानकारी मांगी थी।

बिहार: नि:शुल्क शिविर में कर दिए मोतियाबिंद के ऑपरेशन, कई लोगों की गई आंख की रोशनी, एफआईआर दर्जबिहार: नि:शुल्क शिविर में कर दिए मोतियाबिंद के ऑपरेशन, कई लोगों की गई आंख की रोशनी, एफआईआर दर्ज bihar operation cataract eyesight India knows what is happening to Hindus in Kashmir, Bengal, Assam, Tripura & Kerala. Don't allow them to convert into 'Hindu Mukt Bharat'

जेल में ही रहेगा DM हत्या का दोषी आनंद मोहन: MLA बेटे ने विधानसभा में रिहाई पर सवाल किया तो बिहार सरकार ने मना कर दियागोपालगंज के DM जी कृष्णैया की हत्या के आरोप में उम्र कैद की सजा काट रहे पूर्व सांसद आनंद मोहन को जेल में ही रहना पड़ेगा। RJD से विधायक उनके बेटे चेतन आनंद ने विधानसभा में सवाल किया कि उनके पिता की 14 साल की सजा खत्म हो चुकी है। सजा की अवधि से करीब छह महीने ज्यादा हो गए थे, फिर भी बिहार सरकार उन्हें रिहा नहीं कर रही है। चेतन ने भास्कर से कहा है कि प्रस्ताव पर इसके प्रभारी मंत्री ने स्पष्ट तौर पर कह ... | Tejashwi Yadav alleged Bihar government keeping former MP Anand Mohan in jail forcefully ऐसे लोगों को जेल में ही रहना चाहिए!👏👏