Covıd 19, स्‍पूतनिक वी वैक्‍सीन भारत लॉन्‍च

अगले हफ्ते मिलने लगेगी Sputnik V, एक्‍सपर्ट्स के सवालों के बीच रूसी कोरोना वैक्‍सीन के बारे में जानें सबकुछ

रूस की वैक्सीन स्पूतनिक के लिए भारत बेकरार, पर एक्सपर्ट क्यों उठा रहे सवाल #COVID19

14-05-2021 06:51:00
Covıd 19, स्‍पूतनिक वी वैक्‍सीन भारत लॉन्‍च, स्‍पूतनिक वी वैक्‍सीन के साइड इफेक्‍ट्स, स्‍पूतनिक वी वैक्‍सीन के दाम क्‍या हैं, स्पूतनिक वी का टीका, भारत में स्पूतनिक वी टीका कीमत, भारत में स्पूतनिक कोरोना वैक्सीन, भारत में रूस की कोरोना वैक्‍सीन, Sputnik Vaccine Price İn İndia, Sputnik V Vaccine Side Effects, Sputnik V Vaccine İn İndia, Sputnik V Vaccine Efficacy, Sputnik V Vaccine Doses İndia, Sputnik V Vaccine Availability İn İndia, Sputnik Covid Vaccine Launch İn İndia, Russian Vaccine Sputnik V Price İn İndia, Russian Vaccine İn İndia Price, Russia Covid Vaccine İn İndia, भारत Samachar

रूस की वैक्सीन स्पूतनिक के लिए भारत बेकरार, पर एक्सपर्ट क्यों उठा रहे सवाल COVID19

भारत में कोरोना वायरस की तीसरी वैक्‍सीन अगले हफ्ते उपलब्‍ध हो जाएगी। रूस में बनी Sputnik V की पहली खेप (डेढ़ लाख डोज) 1 मई को भारत पहुंच चुकी थी। दूसरी खेप भी आज या कल में पहुंच जाएगी। रशियन डायरेक्‍ट इनवेस्‍टमेंट फंड (RDIF) ने भारत में इस वैक्‍सीन को उपलब्‍ध कराने के लिए डॉ रेड्डीज लैबोरेटरीज से हाथ मिलाया है। स्‍पूतनिक वी टीके को दुनियाभर के 50 से ज्‍यादा देश अप्रूवल दे चुके हैं। हालांकि भारत में आगमन के बीच, मशहूर साइंटिफिक जर्नल 'द लैंसेट' के ऑनलाइन एडिशन में स्‍पूतनिक वी के ट्रायल डेटा को लेकर सवाल उठाए गए हैं।

'स्‍पूतनिक वी' वैक्‍सीन बनाने वालों के अनुसार, उनकी वैक्‍सीन की एफेकसी 91.6 प्रतिशत है। 'द लैंसेट' में छपे डेटा के अनुसार, यह वैक्‍सीन कोविड-19 के गंभीर इन्‍फेक्‍शन से पूरी सुरक्षा देती है। रूस में हुए ट्रायल के अलावा, भारत में डॉ रेड्डीज ने भी फेज 2 और 3 के ट्रायल किए हैं।

कश्मीरी नेता पीएम मोदी के साथ बैठक के न्योते पर बोले- विचार करेंगे: आज की बड़ी ख़बरें - BBC Hindi कोरोना की दूसरी लहर के दौरान बिहार में 75 हजार मौतों की नहीं पता वजह, आंकड़ों से हुआ खुलासा कोरोना की तीसरी लहर की आशंका, केंद्र सरकार ने राज्यों को दी चेतावनी: आज की बड़ी ख़बरें - BBC Hindi

​'स्‍पूतनिक वी' के फायदे क्‍या हैं?RDIF के अनुसार, उनकी वैक्‍सीन से कोई एलर्जी नहीं होती।एक डोज की कीमत 10 डॉलर से भी कम है।इस वैक्‍सीन की दो डोज में दो अलग-अलग तरह के वेक्‍टर्स का इस्‍तेमाल किया जाता है जो ऐसी ही तकनीक वाले टीकों के मुकाबले ज्‍यादा लंबे समय तक इम्‍युनिटी प्रदान करती हैं।

यह वैक्‍सीन 18 साल से ज्‍यादा उम्र के लोगों के लिए है और इंजेक्शन के जरिए लगाई जाती है।एक डोज 0.5 ml की होती है और उनके बीच 21 दिनों का अंतर रखा जाता है।भारत में कोविड-19 की तीसरी वैक्‍सीन होगी Sputnik V'स्‍पूतनिक वी' भारत में कोरोना वायरस के खिलाफ इस्‍तेमाल की जाने वाली तीसरी वैक्‍सीन होगी। जनवरी में, ड्रग्‍स कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया (DCGI) ने दो टीकों- भारत बायोटेक की Covaxin और ऑक्‍सफर्ड-अस्‍त्राजेनेका की Covishield जिसे पुणे की सीरम इंस्टिट्यूट ऑफ इंडिया (SII) बना रही है, को आपातकालीन इस्‍तेमाल की मंजूरी दी थी। headtopics.com

भारत में मध्‍य जनवरी से कोविड टीकाकरण अभियान की शुरुआत की थी। हालांकि 18 साल से ज्‍यादा उम्र के लोगों के लिए वैक्‍सीनेशन खोलने के बाद वैक्‍सीन की शॉर्टेज की खबरें हैं। कुछ राज्‍यों में वैक्‍सीनेशन पर खासा असर पड़ा है। ऐसे में एक और वैक्‍सीन उपलब्‍ध होने से थोड़ी राहत मिलने की उम्‍मीद है।

Sputnik V को अप्रूवल देने वाला 60वां देश है भारतरूस में बनी इस वैक्‍सीन को भारत से पहले 59 देश अप्रूवल दे चुके थे। इनमें अर्जेंटीना, बोलिविया, हंगरी, यूएई, ईरान, मेक्सिको, पाकिस्‍तान, बहरीन, श्रीलंका व अन्‍य शामिल हैं। एक तरह से देखें तो दुनिया की करीब 40 फीसदी आबादी की इस वैक्‍सीन तक पहुंच है। भारत इनमें सबसे ज्‍यादा आबादी वाला देश है।

अब एक्‍सपर्ट्स ने क्‍या सवाल उठाए हैं? जवाब भी आया'द लैंसेट' में एक्‍सपर्ट्स ने इस वैक्‍सीन के पूरा डेटा जारी न करने पर सवाल उठाए हैं। जर्नल में छपी चिट्ठी में वैज्ञानिकों ने लिखा है कि 'रिसर्च की गरिमा के लिए डेटा शेयरिंग बेहद अहम है, इसमें केाई शर्ते नहीं होनी चाहिए।' वे इस बात से भी नाराज हैं कि ट्रायल के पूरे प्रोटोकॉल और अंतरिम एनालिसिस में बदलाव की वजहों को सार्वजनिक नहीं किया गया। वैज्ञानिकों ने वैक्‍सीन के नतीजों में कुछ गड़‍बड़‍ियों को भी रेखांकित किया है।

वैक्‍सीन बनाने वालों ने दिया जवाब'द लैंसेट' के इसी अंक में 'स्‍पूतनिक वी' बनाने वाले वैज्ञानिकों ने कहा है कि फेज 3 ट्रायल की रिपोर्टिंग और एनालिसिस में कुछ भी छिपाया नहीं गया। वैज्ञानिकों ने 51 देशों में रजिरूट्रेशन का हवाला दिया और कहा कि इससे उनकी पारदर्शिता का पता चलता है। उन्‍होंने नतीजों में गड़बड़‍ियों को टाइपिंग की गलतियां बताया और कहा कि उन्‍हें सुधार लिया गया है। headtopics.com

48 घंटे में दूसरी बार अमित शाह से मिले बंगाल के गवर्नर, फिर चुनाव बाद हिंसा पर की कड़ी टिप्पणी कोरोनावायरस का डेल्टा वैरिएंट पहली बार उत्तर पूर्व के 2 राज्यों में मिला : सूत्र पंचतत्व में विलीन हुए 'फ्लाइंग सिख', राजकीय सम्मान के साथ दी गई मिल्खा सिंह को अंतिम विदाई

भारत में बनेंगी 'स्‍पूतनिक वी' की 85 करोड़ डोजभारत में हर साल इस वैक्‍सीन की 85 करोड़ डोज बनाई जाएंगी। RDIF ने ग्‍लैंड फार्मा, हेटेरो बायोफार्मा, पनाका बायोटेक, स्‍टेलिस बायोफार्मा समेत कई भारतीय कंपनियों से इसके निर्माण का सौदा किया है। हैदराबाद स्थित डॉ रेड्डीज लैब्‍स इस वैक्‍सीन की छोटी-छोटी खेप आयात कर सरकार को सप्‍लाई करेगी। जून-जुलाई तक वैक्‍सीन की लोकल सप्‍लाई उपलब्‍ध होने के बाद वैक्‍सीन का स्‍टॉक बढ़ने की संभावना है।

Navbharat Times News App: और पढो: NBT Hindi News »

द ग्रेट इंडियन पॉलिटिकल ड्रामा: स्पेशल रिपोर्ट में देखें कैसे पूरे दिन रही सियासी गलियारों में हलचल

आज स्पेशल रिपोर्ट में बात करेंगे द ग्रेट इंडियन पॉलिटिकल ड्रामे की. पूरे दिन सियासी गलियारे में हाइवोल्टेड ड्रामा चलता है, दिल्ली में दो फ्रंट पर सियासी बैटिंग होती रही, एक फ्रंट पर योगी और मोदी की चर्चा तो दूसरी तरफ बीजेपी बनाम आम आदमी पार्टी में तू-तू मैं-मैं. वहीं बंगाल में बीजेपी को ममता ने जोर का झटका जोर से दिया. मुकुल रॉय ने बीजेपी को टाटा बाय-बाय कह दिया, राजस्थान में सचिन पायलट कांग्रेस को थैंक्यू ना कह दे इस लिए दिनभर रूठने और मनाने का खेल चलता रहा. पंजाब में कांग्रेस किचकिच में परेशान है तो अकाली दल ने मैदान मारने के लिए हाथी की सवारी को हरी झंडी दे दी. ज्यादा जानकारी के लिए देखें वीडियो.

At least Russia is helping India भारत मे नमक भी बहुत है। और नमक हराम उससे भी ज्यादा। एजेंडा US का है और यहां हरामखोर उसको हवा देने में लगे है। कुछ तो लोग कहेंगे लोगो का काम है कहना छोड़ो बेकार की बात कही बढ़ न जाये कोरोना फार्मसी कम्पनियों के पेरोल पर रहने वाले एक्सपर्ट सवाल उठा रहे है क्यों न हो?अरबो के मुनाफा कजो सवाल है।

कौन बेकरार बे Navbharat Times ki dalali chalu hai, Pfizer k liye aisa koi article aajtak nahi chapa hai tum logone.

'अपने विचार मुझे मेल के जरिए बताएं', पार्टी कार्यकर्ताओं के इस्तीफे के बाद बोले कमल हासनएक्टर और राजनीतिज्ञ कमल हासन की पार्टी मक्कल नीधि मय्यम (MNM) को तमिलनाडु विधानसभा चुनावों में करारी शिकस्त का सामना करना पड़ा, उनकी पार्टी चुनावों में एक भी सीट नहीं जीत पाई थी. जिसके बाद अब पार्टी में बिखराव की स्थिति पैदा हो गई है, कई बड़े नेताओं ने खुले मंच से पार्टी में लोकतंत्र की कमी का हवाला देते हुए कमल हसन को पार्टी चलाने की समझ नहीं होने की बात कही थी. जिसके बाद मंगलवार को कमल हासन ने पार्टी कार्यकर्ताओं से मेल के जरिए अपने असंतोष और विचार व्यक्त करने की अपील की. 😜😜😂😂 झंडू Hahahaha...jis thali khata usi me chhed ...kisi bhi dharm ki burai karoge to yahi Hal hoyenga U have got ur results of HINDU HATE STATEMENTS...continuously..same happen in ASANSOL WEST BENGAL sayyani ghosh condom on god image

मालदीव में फंसे कंगारू क्रिकेटर्स इस हफ्ते जाएंगे स्वदेश, कीवी लेंगे इंग्लैंड के लिए उड़ानआईपीएल 2021 के रद्द होने के बाद मालदीव में फंसे ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेटर्स, कोच और कमेंटेटर्स रविवार तक स्वदेश लौट सकते हैं और फिलहाल मालदीव में क्वारंटीन में रह रहे न्यूजीलैंड के खिलाड़ी इस हफ्ते के अंत में इंग्लैंड रवाना हो सकते हैं।

पश्चिम बंगाल: चुनाव के बाद हिंसा से प्रभावित लोगों से मिलने कूचबिहार पहुंचे राज्यपाल धनखड़पश्चिम बंगाल: चुनाव के बाद हिंसा से प्रभावित लोगों से मिलने कूचबिहार पहुंचे राज्यपाल धनखड़ WestBengal JagdeepDhankhar MamataOfficial BJP4India MamataOfficial BJP4India He should join Frontline politics....not suitable for governor role MamataOfficial BJP4India MamataOfficial BJP4India Kabhi aaiye UP Bihar bhi..Yaha Nadiyo me Laash ki Laash hai...

राहत की खबर : अगले हफ्ते से मिलने लगेगी स्पुतनिक-वी वैक्सीन, जुलाई से देश में शुरू होगा उत्पादनराहत की खबर : अगले हफ्ते से मिलने लगेगी स्पुतनिक-वी वैक्सीन, जुलाई से देश में शुरू होगा उत्पादन SputnikV NITIAayog LadengeCoronaSe Coronavirus Covid19 CoronaVaccine OxygenCrisis OxygenShortage PMOIndia MoHFW_INDIA ICMRDELHI

वेंटीलेटर न मिलने से पंडित राजन मिश्र के निधन के बाद बेटे ने कहा, 'बड़े प्रोजेक्‍ट के बजाय हेल्‍थ सिस्‍टम को बेहतर बनाने पर खर्च हो पैसा'पंडित राजन मिश्र के बेटे रजनीश ने कहा, मेरे पिताजी जैसे सेलेब्रिटी को समय पर वेंटीलेटर जैसी सुविधा नहीं मिल पाई. इसमें हम सरकार को दोष नहीं दे रहे, लेकिन सरकार से अनुरोध है कि आने वाले समय के लिए बड़े-बड़े हजारों-हजार करोड़ रुपये के प्रोजेक्‍ट पर पैसा नहीं खर्च करके सर्वसुविधा युक्‍त अस्‍पताल, एंबुलेस और हेल्‍थ सिस्‍टम पर पैसा खर्च करें तो कई घर उजड़ने से बच जाएंगे. जिन्होंने भारत में आतंकी भेजने वाले पाकिस्तान के खिलाफ कभी एक शब्द नहीं बोला हत्याएं , बम ब्लास्ट करने वाले पाकितान का कभी बॉयकॉट नहीं किया वो फुस्स पटाके, फ्लॉप कलाकार इस्राइल के खिलाफ बोल रहे हैं Israel is role model for world in fight against terrorism IndiaWithIsrael बिल्कुल सत्य लोग आख़िर कब तक यूँ ही मरते रहेंगे ? Correct

Delhi: कमी के एलान के बाद भी इस वैक्सीनेशन सेंटर पर म‍िल रही Covaxin की डोजदिल्ली सहित देश के कई हिस्सों में कोरोना वैक्सीनेशन में रुकावट आ रही है. वैक्सीन की किल्लत के बीच कल ही दिल्ली सरकार ने कहा कि उसके पास कोवैक्सिन का स्टॉक खत्म हो गया है. लेकिन दिल्ली के एक सेंटर पर गुरुवार को कोवैक्सिन लगाई जा रही हैं. देखिए संवाददाता कुमार कुणाल की रिपोर्ट.