अखिलेश यादव से मिलने पहुंचे भीम आर्मी चीफ चंद्रशेखर, गठबंधन पर हो सकती है बात

अखिलेश यादव से मिलने पहुंचे भीम आर्मी चीफ चंद्रशेखर, गठबंधन पर हो सकती है बात

28-11-2021 09:34:00

अखिलेश यादव से मिलने पहुंचे भीम आर्मी चीफ चंद्रशेखर, गठबंधन पर हो सकती है बात

भीम आर्मी चीफ चंद्रशेखर आज समाजवादी पार्टी के मुखिया अखिलेश यादव से मिलने पहुंचे हैं. दोनों के बीच गठबंधन को लेकर बात हो सकती है.

(अपडेटेड 28 नवंबर 2021, 12:07 PM IST)उत्तर प्रदेश में सत्ता में वापसी के लिए जुटे समाजवादी पार्टी के मुखिया अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) छोटे-छोटे दलों को साथ लाने की कोशिश कर रहे हैं. पहले आरएलडी, उसके बाद आम आदमी पार्टी से गठबंधन की चर्चाएं तेज हैं. इसी बीच रविवार को भीम आर्मी के प्रमुख चंद्रशेखर (Chandrashekhar) भी अखिलेश यादव से मिलने पहुंचे हैं. दोनों के बीच गठबंधन को लेकर चर्चा होने की संभावना है.

यूपी चुनाव के लिए समाजवादी पार्टी ने छोटी पार्टियों के लिए गठबंधन के दरवाजे खोल रखे हैं. सपा नेता सुनील सिंह साजन ने पिछले दिनों कहा था कि उनकी पार्टी लगातार छोटे दलों को साथ लाने की कोशिश कर रही है. 2022 के चुनाव में बीजेपी को हराने के लिए सपा का दरवाजा सभी छोटे दलों के लिए खुला है. हालांकि, गठबंधन पर आखिरी फैसला अखिलेश यादव ही करेंगे.

Live TV

और पढो: AajTak »

खुद्दार कहानी: गिरीश का बचपन गरीबी में बीता, मजदूरी भी की; अब कबाड़ से मॉडल बनाकर बच्चों को पढ़ाते हैं साइंस

गुजरात के राजकोट के रहने वाले गिरीश बावलिया का बचपन गरीबी में बीता। परिवार की आर्थिक हालत ठीक नहीं थी। कम उम्र में ही उन्हें मजदूरी करनी पड़ी, किराने की दुकानों पर काम किया, लेकिन कभी हौसला नहीं खोया। वे लगातार कोशिश करते रहे और सरकारी स्कूल से पढ़कर प्रिंसिपल बने। इसके बाद उन्होंने तय किया कि जिन मुश्किलों का सामना उन्हें करना पड़ा है, दूसरे बच्चों को नहीं करना पड़े। | Girishbhai of Gujarat teaches science to children by making models out of scrap; Do not take leave, do the cleaning of school toilets on their own और पढो >>

या रावण से गठबंधन अखिलेश को लेदुबेगी Yogi verses all Fir wahi hoga yadav Kat jayga तुम कितना भी गठबंधन कर लो हिन्दू और राष्ट्र भक्त कभी भी तुम लोगो को वोट नहीं देंगे क्योंकि तुमलोग आतंकियों का विरोध नहीं करते हो उनके समर्थकों को समर्थन करते हो As a strategy Netaji is unnecessarily giving advantage to AAP ,this guy Azad ...though I will not vote for you..still you are better off as single premier challenger to mighty Yogiji...why give free power to irrelevant ppl..

Chor chor mausere bhai गठबंधन कर के , हार तय कर लेंगे अखिलेश , स्वतन्त्र चुनाव लड़ने में ही भलाई है चंद्रशेखर जी से आग्रह है ऐसा कदम न उठाएं Jis Hisab Se akhilesh Gathbandhan Kr rhe hai Us hisab se To SP To Sirf 100 Seat pe Hi Election Ladegi यूपी मैं सबसे ज्यादा दलित प्रताड़ित है और ये महाशय गठबंधन मैं मशरूफ है ।

UP Election : नरेंद्र मोदी - योगी आदित्यनाथ को लपेटने के चक्कर में फंस गए अखिलेश यादवहाल ही में जेवर इंटरनेशनल एयरपोर्ट (Jewar International Airport) का शिलान्यास करते हुए पीएम नरेंद्र मोदी और सीएम योगी आदित्यनाथ ने अखिलेश यादव को जम कर निशाने पर लिया था। दरअसल पूर्वांचल एक्सप्रेस (Poorvanchal Express) समेत कुछ परियोजनाओं के उदघाटन और शिलान्यास पर अखिलेश ने चुटकी लेते हुए कहा था कि शुरुआत उनकी थी फीता बीजेपी वाले काट रहे हैं। लेकिन आज आजमगढ़ (Azamgarh) में पत्रकारों के सवाल का जवाब देते देते वो खुद ही फंसते नजर आए। उन्होंने कहा कि वह आगरा के बगल में फिरोजाबाद में एयरपोर्ट चाहते थे। पर अनुमति नहीं मिली। अब एयरफोर्स के लिहाज से अहम एयरपोर्ट के 16 किलोमीटर दूर सिविलियन एयरपोर्ट को इजाजत क्यों नहीं दी गई, इस पहलू को बताने से वो चूक गए। दूसरी बात, 2012 से 2014 तक केंद्र में उनके साथी कांग्रेस की सरकार थी। मोदी तो मई, 2014 में सत्ता में आए। साथ ही उन्होंने आजमगढ़ हवाई पट्टी का जिक्र किया और कहा कि हवाई पट्टी सपा ने बढ़ाई लेकिन एयरपोर्ट नहीं बना। हालांकि उन्होंने एक बात छिपा ली। बुधवार को ही एविएशन सेक्रेटरी ने कहा है कि अगले साल तक आजमगढ़ एयरपोर्ट बन कर तैयार हो जाएगा।AkhileshYadav NarendraModi UPelection2022

अच्छे मुख्यमंत्री हैं भगवाधारी सन्यासी सभी धर्मों का साथ दे रहे हैं सभी धर्मों का विकास कर रहे हैं आपसे कहना चाहता हूं भारत का सबसे बड़ा प्रांत है उत्तर प्रदेश भगवाधारी सन्यासी रहे हैं कुछ समय दीजिए समझने के लिए वह हमारे लिए सम्मान का विषय है गौरव का विषय है अति शीघ्र उत्तर प्रदे आप उत्तर प्रदेश के निवासी हैं मुझसे बेहतर जानते हैं अखिलेश बाबू के बारे में समाजवादी पार्टी के बारे में पिता और बेटे ने मिलकर उत्तर प्रदेश में 25 साल के आसपास शासन किया है अगर उन्हें सम्मान देना होता गरीबों को दलितों को पिछड़ों को तो कब का दे चुके होते एक अच्छे मुख्यमंत्री हैं भग

बड़े भाई चंद्रशेखर आजाद जी आपका सम्मान करता हूं मैं दलितों के प्रति आपके काम करने को तरीकों को महानता देता हूं मैं कहना चाहता हूं डंडे और बंदूक के दम पर दुनिया का इतिहास गवाह है किसी भी पेज किसी को भी पहचान नहीं मिली है प्रेम का संदेश सबसे बड़ा संदेश है भाईचारे का संदेश सबसे बड़ा आदरणीय बड़े भाई चंद्रशेखर रावण जी लक्ष्मण सिलावट खटीक व्यक्तिगत निवेदन करता हूं मैं अगर आपकी पार्टी को समझौता करना ही है तो भगवाधारी सन्यासी योगी आदित्यनाथ से कीजिए अखिलेश बाबू की हार निश्चित होगी उत्तर प्रदेश के 2022 के चुनाव में उनके विपक्ष के नेता का ताज भी चला जाएगा विश्वास द

Mohamod C.Ravan is a muslim guys , remember, aapnaa naam chupa tee keu.. अली बाबा ४० चोर वाली कहावत यू ही नहि बनी है !

MSP को लेकर भी किसानों को संतुष्‍ट करे सरकार : NDTV से बोले योगेंद्र यादवNDTV से बात करते हुए योगेंद्र यादव ने कहा कि हम पीएम से आग्रह करते हैं क हम जो मांग रहे हैं ,कृपया वह हमें दे दीजिए. यादव ने साफ किया कि MSP की किसानों की मांग नई नहीं है. ऐसा नहीं है कि हमने यह कोई नई मांग निकाली है. अक्‍टूबर में हमने सरकार को जो मेमोरेंडम सौंपा था, उसमें भी MSP की बात थी. I strongly feel that _YogendraYadav is a parasite who’s life only motto is to live on protest! अबतो किसान करोड़पति बन गए अब क्यादिक्कत है, योगेंद्र यादव किस बात का किसान है!

यूपी की आज की सियासी हलचल: विवादों में अखिलेश यादव, विपक्ष पर योगी का बड़ा बयान, पढ़ें राजनीति से जुड़ी 5 बड़ी खबरेंयूपी की आज की सियासी हलचल: विवादों में अखिलेश यादव, विपक्ष पर योगी का बड़ा बयान, पढ़ें राजनीति से जुड़ी 5 बड़ी खबरें UPElections2022 UPElection2022WithAmarUjala अमर उजाला क्यों भटका रहे हो, बीजेपी दूसरे या तीसरे नंबर पर है बीएसपी को तो कैंडिडेट ही नहीं मिल रहा है।।

Kisan Andolan LIVE: राकेश टिकैत की अगुवाई वाले प्रदर्शन स्थल यूपी गेट पर पहुंचे योगेंद्र यादवLIVE Kisan Andolan दिल्ली-एनसीआर के बार्डर पर धरना प्रदर्शन जारी रखने को लेकर संयुक्त किसान मोर्चा ने शनिवार को दिल्ली-हरियाणा के सिंघु बार्डर पर एक अहम बैठक बुलाई है जिसमें यह आंदोलन के अगले चरण की रणनीति पर चर्चा होगी।

जब बीजेपी नेता ने सपा के रामगोपाल यादव से की थी नरमी बरतने की वकालत, आगे हुआ था ऐसाजब बीजेपी नेता ने सपा के रामगोपाल यादव से की थी नरमी बरतने की वकालत, कहा था- लालू, प्रणब दा नहीं चाहते कि सवाल के बदले पैसे लेने वाले सांसदों पर हो कार्रवाई

IPL 2022 के लिए इन चार खिलाड़ियों को रिटेन कर सकती है मुंबई इंडियंस, सूर्यकुमार यादव लिस्ट से हैं बाहरमुंबई इंडियंस सूर्यकुमार यादव को नीलामी के जरिए वापस पाना चाहता है लेकिन अगर उन्हें लखनऊ या फिर अहमदाबाद ने साइन कर लिया तो फिर ऐसा नहीं हो पाएगा। इस सीजन में सूर्यकुमार यादव का प्रदर्शन मुंबई के लिए ज्यादा अच्छा नहीं रहा था।