‘जैसे ही पता चला दानिश भारतीय हैं, तालिबानियों ने मस्‍जिद में घुसकर बेरहमी से उसे गोलियों से छलनी कर दिया’

Redirecting to full article in 0 second(s)...

दानिश सिद्दीकी की मौत न तो अफगानिस्तान में क्रॉसफायर में हुई और न ही यह सुरक्षा चूक का मामला था, बल्कि तालिबान द्वारा उनकी पहचान के बाद नृशंस हत्या की गई। यह खुलासा अमेरिका की एक मैगजीन ने अपनी रिपोर्ट में किया है।